ऑटोमोबाइल सेक्टर में दिखी ग्रोथ, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की डिमांड बढ़ी

ऑटोमोबाइल सेक्टर में दिखी ग्रोथ, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की डिमांड बढ़ी

नई दिल्ली। कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बीच विश्व भर की अर्थव्यवस्थाओं को धक्का पहुंचा है परन्तु कुछ सेक्टर अभी भी ऐसे हैं जहां लगातार ग्रोथ देखी जा रही है। भारत में वर्ष 2021 ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए गत वर्ष की तुलना में काफी बेहतर रहा है। भारत में इस वर्ष जून माह में कुल दो लाख 31 हजार 633 यात्री वाहन बेचे गए जो जून 2019 में बेचे गए कुल दो लाख नौ हजार 522 वाहनों से लगभग दस फीसदी अधिक है।

यह भी पढ़ें : Revolt Motors ने फिर से शुरू की इलेक्ट्रिक बाइक्स की बुकिंग, 10 मिनट में सारी बुक

गत वर्ष जून माह में लॉकडाउन होने के कारण वाहनों की बिक्री में अत्यधिक गिरावट दर्ज की गई थी और उस महीने में केवल एक लाख पांच हजार 617 वाहन ही बेचे जा सके थे। आंकड़ों के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कुल 31 लाख 80 हजार 039 व्हीकल्स बेचे गए जो गत वर्ष से लगभग दोगुने से ज्यादा है। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की इसी तिमाही में 14 लाख, 92 हजार 612 व्हीकल यूनिट्स बेची गई थी। इस वर्ष जून में 10,55,777 टूव्हीलर्स की बिक्री हुई थी जिसमें से 1,091 इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन हैं। इस महीने देश में 7,77,100 बाइक्स और 2,41,689 स्कूटर्स की बिक्री हुई है।

यह भी पढ़ें : RBI ने महाराष्ट्र के एक और बैंक का लाइसेंस रद्द किया, ग्राहकों की जमा पूंजी को लेकर उठे सवाल

सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफेक्चरर्स (SIAM) द्वारा जारी किए गए डेटा के अनुसार जून में देश में यात्री वाहन, तिपहिया वाहन, दोपहिया वाहन तथा क्वाड्री साइकिल्स में सभी को मिलाकर कुल 12,96,807 वाहनों की बिक्री हुई जबकि गत वर्ष जून में यह आंकड़ा 11,30,744 यूनिटस का ही रहा। यदि वर्ष 2019 के आंकड़ों को देखें तो उस वर्ष इसी तिमाही में कुल 19,10,969 वाहनों की बिक्री हुई थी। गत वर्ष वाहनों की बिक्री कम होने के पीछे कोरोना की वजह से सख्त लॉकडाउन का लगना तथा लोगों के पास पैसे की कमी का होना रहा।

सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफेक्चरर्स के अनुसार कोरोना के कारण लगाए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट का सामना करना पड़ा हालांकि लॉकडाउन खुलने और प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के बाद से जून माह में वाहनों की ब्रिकी में काफी सुधार देखा जा रहा है।